विशेषण (Adjectives) in Hindi – परिभाषा, भेद, पहचान और उदाहरण

विशेषण (Adjectives) क्या है?

जब भी अप किसी के तारीफ, किसी के काम पी टिप्पणी करते है या फिर बोल सकते है किसी भी संज्ञा और सवर्नाम के बारे मैं कुछ अतिरिक्त सूचना देते हैं, उन्हें हम विशेषण कहते है।

Definition- संज्ञा या सर्वनाम को विशेषता बताने वाले शब्द को विशेषण कहते है।

For example-

  1. काला कुत्ता।
    काला यहापे कुत्ता के विशेषता को दर्शा रहा है। काला यहां पे विशेषण है।
  1. राज ईमानदार है।
    ईमानदार यहां पे राज की विशेषता को वाता रहा है। ईमानदार विशेषण है।
  1. राज अलसी है।
    यहां अलसी विशेषण है।
  1. नीला समुद्र
    यहां नीला विशेषण है।
  2. मीठा सेब
    मीठा यहां पे सेब का विशेषता को वाता रहा है। मीठा विशेषण है।
  3. हरा खेत।
    हरा यहां पे खेत का विशेषता वाता रहा है। हरा विशेषण है।
  4. सुंदर घड़ी।
    सुंदर यहां पे घड़ी की विशेषता को वाता रहा है। सुंदर विशेषण है।
  5. मीठा पानी।
    यहां मीठा विशेषण है।
विशेष्य –

विशेषण शब्द जिन संज्ञा या सर्वनाम शब्दों के विशेषता बताते है वे विशेष्य कहलाते है।

For example-

  1. काली बिल्ली
    यह पे बिल्ली विशेष्य है।
  2. नीला पानी
    यह पे पानी विशेष्य है।
  3. हरा खेत
    यह पे खेत विशेष्य है।

विशेष्य और विशेषण के उदाहरण –

विशेषणविशेष्य
नीलापानी
बड़ेआदमी
मीठाआम
साफपानी
छोटाभाई
नटखटबालक
येपेन
वेसेब
मीठासेब
सुंदरघड़ी
बुराआदमी
बीमारबालक

विशेषण के प्रकार (Types of adjectives) –

विशेषण मुख्य रूप से चार प्रकार के होते है।

  1. गुणवाचक विशेषण।
  2. परिमाणवाचक विशेषण।
  3. संख्यावाचक विशेषण।
  4. सार्वानामिक विशेषण।

इन चार प्रकार को एक एक करके चर्चा करेंगे।

1. गुणवाचक विशेषण –

जिस विशेषण से किसी का गुण या दोष प्रकट हो वहां गुणवाचक विशेषण कहते है। गुण, दोष, रंग, दिशा, आकर, अवस्था, गन्ध, स्थान इन सब विशेषता की बोध कराते है उन्हें हम गुणवाचक विशेषण कहते है।

गुण – अच्छा, ईमानदार, भला, बुरा, उचित, अनुचित, पाप आदि।

दोष – बुरा, बईमान आदि।

रंग – नीला, पीला, हरा, लाल, काला, सुनहरी आदि।

दिशा – पूर्व, पश्चिमी, उत्तर।

आकर – गोलाकार, त्रिकोण, सुंदर आदि।

अवस्था – दुखी, बीमार।

स्थान – दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, भीतरी, बाहरी, नीचा आदि।

For example – 

  1. राम ईमानदार है।
  2. वह ईमानदार है
  3. टीना सुंदर है।
  4. वह बीमार है।
  5. राज दुखी है।

2. परिमाणवाचक विशेषण –

परिमाणवाचक विशेषण मैं आपको संज्ञा और सर्वनाम के परिमाण बताते है। परिमाणवाचक विशेषण का दो भेद होते है 

  1. निश्चयवाचक 
  2. अनिश्चयवाचक
1. निश्चयवाचक –

अगर हम बात करे निश्चित परिमाण की तब निश्चयवाचक होता है।

For example – 

  1. राम ने 2 किलोग्राम सेब खरीदा।
  2. मां मेरे लिए रोज 1 लीटर दूध खरीदता है।
  3. वह 6 फीट लंबा है
  4. राम ने 1 किलोग्राम आम लाया।
2. अनिश्चयवाचक –

अगर हम कुछ, बोहूत, थोड़ी आदि वाक्य मैं इस्तेमाल करे तो हम उसे अनिश्चयवाचक बोलेंगे।

For example-

  1. रवि ने कुछ तेल लाया।
  2. राम ने मुझे बोहुत खाना दिया।
  3. रिया ने मुझे कुछ बिस्कुट दिया
  4. राम ने कुछ आम लाया।

3. संख्यावाचक विशेषण –

संख्यावाचक यानिकि किसी संख्या की विशेषता वातने वाले विशेषण के शब्दों को  संख्यावाचक विशेषण कहते है।

संख्यावाचक विशेषण दो प्रकार मैं बाटा जाता है –

  1. निश्चयवाचक 
  2. अनिश्चयवाचक
1. निश्चयवाचक –

अगर हम बात करे निश्चित संख्या की तब निश्चयवाचक होता है।

For example–

  1. मेरा प्रिय नम्बर 7 है।
  2. स्कूल मैं 20 छात्र है।
  3. मेरा रोल नम्बर 3 है।
  4. मेरे पास पांच सेब है।
  5. दो बालक झगड़ रहे हैं।
  6. मैं रोज चार सेब खाता हूं।
  7. मेरे पास तीन पेन है।
  8. मेरे कक्षा मैं पांच लड़की है।
2. अनिश्चयवाचक –

अगर हम कुछ, बोहूत, थोड़ी आदि वाक्य मैं इस्तेमाल करे तो हम उसे अनिश्चयवाचक बोलेंगे।

  1. स्कूल मैं कुछ छात्र है।
  2. कुछ लड़के जा रहे है।
  3. बहुत लोग गए थे।
  4. मेरे पास बहुत पेन है।
  5. मेरे कक्षा मैं बहुत लड़की है।
  6. मुझे कुछ खाना चाहिए।
  7. मैने कुछ बिस्कुट खरीदा।
  8. वह मुझे थोड़ा सा खाना दिया था।

4. सार्वानामिक विशेषण –

ऐसे सर्वनाम शब्द जो संज्ञा से पहले लगाकर उस संज्ञा की विशेषता बताते है, वे शब्द सार्वानामिक विशेषण कहलाते हैं।

For example-

  1. वह मेरा किताब है।
    इस उदाहरण मै वह सार्वानामिक विशेषण है।
  2. वह बालक खेल रहा है।
  3. किसी लड़की की मोबाइल है।
  4. वह लड़की खाना बनाती है।
  5. कोई बालक को बुलाकर लाना।
  6. वह लड़का सुंदर है।
  7. वह लड़की सुंदर है।
  8. वह मेरा पेन है।

कुछ उलझन हो जाता है सर्वनाम और सार्वाणामिक विशेषण मैं, कुछ examples मैं इन दोनो की अंतर को समझेंगे –

सर्वनामसार्वाणामिक विशेषण
इसनेइस बालक ने
उसनेउसने
उसनेइस लड़की ने
किसीनेकिस लड़का ने
जिसनेजिस लड़की ने
प्रविशेषण –

प्रविशेषण ऐसा शब्द है जो विशेषण की विशेषता दर्शाता है।

For example-

  1. वह लड़का बहुत अच्छा है।
  2. बहुत भूख लगरहा है।
  3. राम बहुत तेज भागते है।

Read also:-

Print Friendly, PDF & Email

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *